Behtreen Shabd ~ #04.Kamiyaan

अब लोगो ने दुसरो में कमियां तलाशना छोड़ दिया है,

जब से उन्हें आईने की अहमियत समझ में आई हैं !!!

Shabdsiyapa©

Author: Shabd Siyapaa

4 thoughts on “Behtreen Shabd ~ #04.Kamiyaan

Comments are closed.